दोनों का अल्लाह एक है. फिर भी…! दुनियाभर के शिया-सुन्नी एक दूसरे से नफरत क्यों करते हैं?

0
4889

या बहुल ईरान की संसद और अयातुल्‍लाह खोमैनी के मकबरे पर हमला हुआ जिसमें करीब 12 जानें गईं. और इस हमले की ज़िम्मेदारी सुन्नी संगठन ISIS ने ली.

शिया और सुन्नी-

दोनों एक ही अल्लाह को मानते हैं. मुहम्मद साहब को अल्लाह का आखिरी पैगंबर (दूत) मानते हैं. क़ुरान (कहा जाता है दुनिया में मुहम्मद साहब लेकर आए) को आसमानी किताब मानते हैं. दीन भी दोनों का ‘इस्लाम’ है. तो मियां फिर दिक्कत कहां हैं? क्यों शिया-सुन्नी में इतनी दूरियां हैं. क्यों नफरतों के बीज फूटते रहते हैं?

दोनों समुदाय सदियों से एक साथ रहते आए हैं. दोनों की ज्यादतर धार्मिक आस्थाएं और रीति रिवाज एक जैसे हैं. त्योहार भी एक ही हैं फिर दुनिया के शिया सुन्नी आपस में क्यूँ एक दुसरे के दुश्मन हैं आज हम आपको बताएँगे.

अगले पेज पर जानिए वो सच “दुनियाभर के शिया-सुन्नी एक दूसरे से नफरत क्यों करते हैं” ..

Loading...

LEAVE A REPLY